Thursday, 24 September 2020

सुकन्या समृद्धि योजना की पूरी जानकारी हिंदी में | Sukanya Samriddhi Yojna in Hindi

 Sukanya Samriddhi Yojana

नमस्कार दोस्तों, सुकन्या समृद्धि योजना का  शुभारम्भ  भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी  के नेतृत्व में 2 दिसंबर 2014 में किया गया था. इस महात्वाकांक्षी योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य हमारे देश में नारी शक्ति को समृद्ध और सशक्त बनाना है.

सुकन्या समृद्धि योजना भारत के ऐसे नागरिकों को के लिए है, जो अपने बेटी के उज्जवल भविष्य के लिए बचत करना चाहते हैं. इस योजना के अंतर्गत वह छोटी - छोटी बचत करके अपने बेटी के चमकदार  भविष्य एवं अच्छी शिक्षा के माध्यम से अपनी बेटी  के सपनों को पूरा कर सकते हैं. सुकन्या समृद्धि योजना देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत चलाई जा रही है जो की मात्र कुछ ही समय में भारत के लोगों के बीच खूब सफल हो रहा है. 

आपको बता दें कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य हमारे देश  में लड़के और लड़कियों के फर्क को  दूर करना है. 

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है ? 

इस योजना के अंतर्गत आप  खाता कैसे खोल सकते हैं ?

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम 2020 क्या है ? 

सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट 2020  , सुकन्या योजना डाकघर , सुकन्या समृद्धि योजना 2020, सुकन्या समृद्धि योजना अपडेट , इन सब की पूरी जानकारी स्टेप बाई स्टेप  प्राप्त करने के लिए आपको यह आर्टिकल अंत तक  पढ़ना होगा. क्योकि इस पोस्ट में हम आपको इसकी पूरी जानकारी देने वाले हैं तो दोस्तों बने रहिए हमारे इस पोस्ट के साथ.




हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा "बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ" योजना के अंतर्गत सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) की शुरुआत 2 दिसंबर 2014 को किया गया था. इसके अंतर्गत जन्म से लेकर 10 वर्ष उम्र तक की बेटियों का खाता  खोला जाता है. सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत भारत का  कोई भी नागरिक अपने किसी नजदीकी पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में खाता खुलवा सकता है.

इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम 1000 रूपये की धनराशि बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करनी होती है. इस योजना  का मुख्य उद्देश्य हमारे देश के लड़कियों को आगे बढ़ाना है. इसके अलावा बेटियों की शिक्षा, विवाह योग्य होने पर पैसों की कमी ना आए , इसके लिए उनके माता-पिता द्वारा छोटी-छोटी धनराशि से  इस योजना के अंतर्गत बचत कर सकते हैं.

इस योजना के अंतर्गत जब बेटी 18 वर्ष की हो जायेगी तब वह पढ़ाई के लिए वह इस खाते से पैसे निकाल सकती है, और 21 साल  की उम्र होने पर उसके विवाह के समय इस योजना  के अंतर्गत जमा संपूर्ण धनराशि निकालकर अपने विवाह आदि में  उपयोग कर सकती हैं . भारत सरकार के इस योजना  से हमारे देश के बेटियों को काफी प्रोत्साहन मिला  है. जिसकी मदद से उनको आगे बढ़ने में काफी आसानी हो जाएगी और देश के विकास में हमारी बेटियां भी भागीदार होंगी. इसके माध्यम से देश में नारियों की स्थिति और अधिक सशक्त एवं सुदृढ़ होगी |


सुकन्या समृद्धि योजना 2020 के अंतर्गत कौन- कौन लोग खाता खोल सकते हैं –

सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत केवल जन्म से लेकर 10 वर्ष की उम्र तक की लड़की के नाम पर ही अकाउंट खोला जा सकता है. इसका अर्थ यह है की  इस योजना के अंतर्गत 10 वर्ष से ऊपर लड़कियों का खाता नहीं खोला जा सकता है. इसके अलावा इस  योजना का लाभ अनिवासी भारतीय (एन आर आई) नहीं प्राप्त कर सकते हैं | यदि कोई बेटी, सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के बाद एन आर आई  बन जाती है तो उसे अपना सुकन्या समृद्धि योजना का खाता बंद करना होगा . यदि किसी कारण वश खाता बंद नहीं किया जाता है  तो एन आर आई बनने के बाद  इस खाते में किसी प्रकार का ब्याज नहीं प्रदान किया जाएगा.



भारत सरकार के इस महात्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत माता-पिता अथवा कानूनी संरक्षक अपनी बेटी के लिए खाता खोल सकते हैं.  इसके साथ ही गोद ली हुई बेटी के लिए भी सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत खाता खोल सकते हैं.


सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आप कितने खाते खोल सकते हैं –

दोस्तों  हम देखते हैं की अक्सर यह सवाल पूछा जाता है कि सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत आप कितने खाते खोल  सकते हैं . तो आपको बता दें कि इस योजना के तहत आप कितने अकाउंट खोल सकते हैं इसके बारे में आप इस प्रकार  समझ सकते हैं –


सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत आप एक कन्या के नाम से मात्र  एक ही खाता खोल सकते हैं.

कन्या अथवा बेटी के माता - पिता या कोई अन्य कानूनी अभिभावक इस योजना के अंतर्गत दो अकाउंट खोल सकते हैं.

यदि किसी माता-पिता की पहली संतान कन्या है और दूसरी संतानें भी  दो जुड़वा कन्यायें हैं, तब इस स्थिति में वह तीसरा अकाउंट खुलवा  सकते हैं. इस स्थिति में बेटी के माता-पिता को मेडिकल प्रमाण पत्र भी जमा करना होगा.

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज या प्रमाणपत्र  –

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए कुछ आवश्यक प्रमाणपत्रों  की आवश्यकता होती  है  जो कि निम्न  है –

1. सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आपको बेटी का जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता     होगी.

2. इस योजना के लिए खाता में पैसे जमा करने वाले व्यक्ति का परिचय पत्र की भी आवश्यकता होगी.

3. जमाकर्ता का एड्रेस प्रूफ भी सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आवश्यक है.




सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत आप अधिकतम और न्यूनतम कितनी धनराशि जमा कर सकते हैं –

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आपको सबसे पहले न्यूनतम 1000 रूपये जमा करके खाता खोलना होगा . इसके बाद आप 100 रुपए के गुणकों में पैसे जमा कर सकते हैं . सुकन्या समृद्धि योजना के तहत  न्यूनतम  1000 रूपये और अधिकतम डेढ़ लाख रूपये  प्रतिवर्ष अपनी बेटी के खाते में जमा कर सकते हैं. यदि अभिभावक माता - पिता की दो बेटियां हैं, तो इस स्थिति में सुकन्या समृद्धि योजना 2020  खाते में डेढ़ लाख- डेढ़ लाख कुल मिलाकर तीन लाख रूपये (3,00000)  जमा कर सकते हैं |


यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में एक वित्तीय वर्ष में डेढ़ लाख रूपय से अधिक की धनराशि जमा कर देते हैं, तो इस स्थिति में अतिरिक्त धनराशी पर आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस की तरफ से किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं दिया जाएगा और अतिरिक्त जमा की गई अपनी  धनराशि को आप कभी भी वापस ले सकते हैं. 


सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत खाता खोलने के लाभ –

मित्रों आपको बता दें कि प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत खाता खोलने के कई प्रकार के लाभ है . आप इससे इस  प्रकार से लाभान्वित हो  सकते हैं –


1. सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जमा की गई धनराशि करमुक्त है. इस योजना के अंतर्गत एक वित्तीय वर्ष

    में आप अधिकतम डेढ़ लाख ऊपर तक ही जमा कर सकते हैं.

2. सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत मिलने वाला ब्याज भी करमुक्त है.

3. इस योजना के अंतर्गत 9.2 प्रतिशत का ब्याज प्रदान किया जाएगा.

4. सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत जब कन्या की उम्र 18 वर्ष की हो जाएगी,  तब वह पढ़ाई के लिए पैसे निकाल सकती है.  इसके साथ 21 वर्ष पूरा होने पर वह विवाह के लिए संपूर्ण धनराशि निकाल सकती है.

5. सुकन्या समृद्धि योजना के तहत  खोले गए खाते को आप कभी भी किसी भी बैंक से अथवा पोस्ट ऑफिस से

    किसी दूसरी बैंक या पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में  स्थांतरण कर सकते हैं .

सुकन्या समृद्धि योजना के अधिक लाभ इस प्रकार समझ सकतें हैं –

यदि आप  सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में आप 12000 रूपये की धनराशि प्रतिवर्ष जमा करते हैं तो इस प्रकार 14 वर्षों में कुल मिलाकर आपकी 16,8000 रुपए की धनराशि जमा होगी. लेकिन इस योजना के अंतर्गत आपके अकाउंट के परिपक्व (पूरा) होने के पश्चात आपको 6,07128 रूपये दिए जाएंगे |

इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष अधिकतम 15,0000 रूपये जमा किए जा सकते हैं . यदि आप 14 वर्षों तक प्रतिवर्ष 150000 रूपये जमा करते हैं, तो पूरे - पूरे  आपके 21,00000 रुपए आपके बेटी के खाते में जमा होंगे. लेकिन इस योजना के अंतर्गत खाता परिपक्व होने पर आपको 72,00000 रुपए प्राप्त होंगे . इस योजना के तहत बेटी 18 वर्ष की उम्र में 50% धनराशि निकाल सकती हैं |




सुकन्या समृद्धि योजना  खाते में आप कब तक योगदान दे सकते हैं –

यदि आपने अपनी बेटी के नाम से सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोला है, तो इस स्थिति में आप खाता खोलने की तारीख से लेकर 15 वर्ष पूरे होने तक बेटी के खाते में पैसे जमा कर सकते हैं .इसके बाद खाता  खोलने की तारीख से 16 वर्ष की शुरुआत और 21 वर्ष के अंत तक आप किसी प्रकार की धनराशि जमा नहीं कर सकते हैं .


नोट – यहां पर आपको इस बात का ध्यान  रखना है कि 16 वर्ष से 21 वर्ष के दौरान भी आपको ब्याज मिलता रहेगा.


सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते की परिपक्वता कब होती है –

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि  सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में जमा धनराशि को आप तब ही निकाल सकते हैं, जब बेटी की  उम्र 18 वर्ष हो चुकी हो. इस योजना का कार्यकाल 21 वर्ष तक होता है . जब से खाता खोला जाता है तब से लेकर 21 वर्ष होने तक आप इसमें जमा किए गए सारे  धनराशि  खाता धारक को ब्याज सहित वापस की जाती है. वहीँ यदि कन्या की आयु 18 वर्ष से अधिक है, एवं  कन्या का विवाह होना है . तो इस स्थिति में इस खाते को समय से पहले ही  बंद किया जा सकता है, और संपूर्ण धनराशि निकाली जा सकती है.


सुकन्या समृद्धि योजना के तहत समय से पूर्व पैसे निकालने के नियम –

दोस्तों सुकन्या समृद्धि योजना  अन्य योजनाओं से काफी अलग योजना है. क्योकि  इस योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में जमा धनराशि को आप को समय से पूर्व नहीं निकाल सकते हैं . आप अपनी बेटी के खाते की धनराशि तभी निकाल सकते हैं. जब खाताधारक बेटी  की उम्र 18 वर्ष से अधिक हो, और उसे आगे की पढ़ाई के लिए पैसे की आवश्यकता हो . तब इस स्थिति में आप की कुल जमा धनराशि का 50% ही खाते से निकाल सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत किए गए निवेश पर टैक्स में छूट  –

भारत सरकार द्वारा लाये गए सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में अधिकतम आप 150000 रूपये  प्रति वर्ष तक का निवेश कर सकते हैं . इस योजना के अंतर्गत खाते में पैसे जमा करने पर आपको टैक्स में छूट दिया जाता  है . यह आयकर अधिनियम की धारा 80C के अंतर्गत आता है . इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत जमा की गई धनराशि पर मिलने वाला ब्याज भी कर मुक्त है . और समय पूर्ण होने पर मिलने वाली संपूर्ण धनराशि पर भी कोई टैक्स नहीं देना होता है .

नोट – यदि आपके दो बेटियां हैं | और आपने दोनों बेटियों के सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खोल रखा है और आप प्रतिवर्ष दोनों खातों में डेढ़ लाख -डेढ़ लाख रूपय कुल मिलाकर 3,00000 रूपये का निवेश करते हैं | तो आपको टैक्स छूट  में सिर्फ 3,00000 रूपये ही दिया जायेगा. 


यहां पर एक बात और ध्यान रखनी है | कि आप डेढ़ लाख तक का टैक्स बेनिफिट केवल सुकन्या समृद्धि योजना  में ही नहीं बल्कि ईपीएफ, ईएलएसएस और जीवन बीमा में जमा धनराशि भी इसी में जोड़कर दी  जाएगी .


सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले गए खाते पर ब्याज दर –

दोस्तों आपको बता दें कि सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत शुरुवात में 9.2%  प्रदान किया जाता था . लेकिन वर्तमान में 2019-20  में यह ब्याज दर घटाकर 8.1% कर दिया गया है | यह ब्याज दर अब भी सभी सरकारी योजनाओं से ज्यादा है .


सुकन्या समृद्धि योजना  खाता आवेदन फार्म डाउनलोड –

यदि आपको सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता ओपन कराना चाहते हैं. तो आपको पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक द्वारा इस योजना के लिए फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं. यदि आपको पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक द्वारा फार्म प्राप्त करने में किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. तो आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके सुकन्या समृद्धि योजना खाता फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं.


सुकन्या समृद्धि योजना  के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें –

यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत दें ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आप नीचे बताए जा रहे हैं. ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके में से किसी एक तरीके का प्रयोग करके आवेदन कर सकते हैं –


सुकन्या समृद्धि खाते के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें –

दोस्तों सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत ऑनलाइन खाते के लिए आवेदन करने के लिए आप नीचे बताए गए आसान से स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं –


1. सबसे पहले आपको 28 राष्ट्रीयकृत बैंकों में से किसी एक बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा | जिस बैंक में आप सुकन्या समृद्धि खाता ओपन करना चाहते हैं |

2.वेबसाइट के होमपेज पर पहुंचने के पश्चात यहां आपको सुकन्या समृद्धि योजना  का लिंक मिलेगा | जिस पर आपको क्लिक करना होगा |

3. अब इस लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपको अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा, जिसमें आपको रेजिडेंशियल प्रूफ माता-पिता का पहचान पत्र और बच्चे का पहचान का पत्र और जन्म प्रमाण पत्र की जरुरत  होगी.

4. यहां पर आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी की प्रामाणिकता होना आवश्यक है. आपके द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी को बैंक द्वारा चेक किया  जाएगा.

5. अब सारे जानकारी भरने और आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करने के पश्चात आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा.

6. इस प्रकार आवेदन पत्र सबमिट करने के पश्चात आपको पहली राशि बैंक खाते में जमा कर खाता चालू कर सकते हैं .आप इन्टरनेट  बैंकिंग की मदद से भी पैसे बेटी के खाते में जमा कर सकते हैं .

खाता खुलने होने के बाद  जब भी आपके खाते में पैसे जमा करते हैं , तो  आपको SMS द्वारा सभी जानकारी प्रदान कर दी जाती है .

सुकन्या समृद्धि योजना  के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन कैसे करें –

यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आप नीचे बताये जा रहे आसन से स्टेप्स को फॉलो करके ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं –


1. सुकन्या समृद्धि योजना खाते के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को लेकर अपने नजदीकी किसी बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में जाना होगा.

2. बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में पहुंचकर आपको सुकन्या समृद्धि योजना फार्म प्राप्त करना होगा . आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही भरना होगा.

3. इसके साथ ही आप को आवेदन पत्र में आवश्यक सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी भी संलग्न करना होगा |

4. सभी जानकारी सही-सही भरने  और आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करने के बाद अपना  आवेदन पत्र बैंक अथवा डाकघर द्वारा निर्धारित काउंटर पर जमा करना होगा.

5. आवेदन फॉर्म जमा करने के पश्चात बैंक अथवा  डाकघर द्वारा आवेदन पत्र की जांची  की जाएगी. और यदि आपके द्वारा दिया गया सारा प्रमाण सही है तब आपकी बेटी का खाता खोल दिया जाएगा.

6. खाता खोलने के पश्चात बैंक और डाकघर द्वारा आपको पासबुक भी प्रदान की जाएगी | जिसमें आप के सभी लेन-देन का विवरण प्रदान किया जाएगा.

तो दोस्तों यह थी भारत सरकार की महात्वाकांक्षी  सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में सभी जरुरी  जानकारी. मित्रों अगर  यह आर्टिकल पसंद आयी हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों एवं सोशल मीडिया पर  जरूर शेयर करें ताकि भारत सरकार के इस बहुत ही महात्वाकांक्षी योजना के बारे में सबको पता चल सके, जिसका लाभ वो अपनी बेटी के उज्जवल भविष्य के लिए उठा सकें.


धन्यवाद.



EmoticonEmoticon

>