Saturday, 8 August 2020

बनारस के 10 बेस्ट स्ट्रीट फ़ूड 2020 | Best Street Food in Varanasi 2020 | Varanasi famous food in hindi

Best Street Food in Varanasi

नमस्कार दोस्तों, बनारस भारत के साथ आज पूरी दुनिया में अपने विशाल धरोहर के वजह से प्रसिद्द है. प्रतिदिन यहाँ हजारों देसी - विदेशी टूरिस्ट आते रहते हैं और यहाँ की सकरी गलियों घाटों के बीच घूमते रहते हैं.इन सब के साथ यहाँ का विभिन्न प्रकार के स्ट्रीट फूड उनको अपनी तरफ खीँचते रहते हैं.क्योकि बनारस के साथ यहाँ का फ़ूड भी उतना ही फेमस है जितना की यह गंगा के किनारे बसी पवित्र नगरी. यहाँ का स्ट्रीट फ़ूड भारतीय संस्कृति के साथ यहाँ के लोगों के जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है.तो आज के पोस्ट में हम आप लोगों को बनारस के टॉप स्ट्रीट फ़ूड के बारे में बताने वाले हैं, तो आप बने रहिये हमारे साथ इस पोस्ट में.

बनारस या वाराणसी का भोजन यहाँ के लोगों के दैनिक जीवन का हिस्सा है. यहाँ आकर आपको यहाँ के मंदिरों एवं घाटो को घुमने के साथ यह का अलग- अलग प्रकार के लजीज पकवानों को भी जरूर ट्राई करना चाहिए.
क्योंकी यहाँ  बहुत से शाकाहारी व्यंजनों को देसी घी में बनाया जाता है जिससे यहाँ के व्यंजन एक अलग लेवल 
पर पहुच जाता है.

जैसा की आप सब जानते हैं स्ट्रीट फूड भारतीय संस्कृति और व्यंजनों का एक अभिन्न  हिस्सा है।  हमारे देश  में कई स्ट्रीट फूड हैं जो काफी प्रसिद्ध हैं, लेकिन बनारस की  गर्म और खस्ता कचौड़ी और समोसे को कोई  नहीं हरा सकता। यह  पवित्र शहर उत्तर प्रदेश राज्य में गंगा नदी के किनारे पर स्थित है और यहाँ का भोजन इसकी संस्कृति और परंपरा से परिभाषित होता है।
  
दिल्ली के लीला एंबियंस कन्वेंशन होटल के शेफ़ अश्वनी कुमार सिंह के अनुसार, "बनारस या वाराणसी का खाना इसके लोगों से प्रभावित है।"  आपको इस शहर में बिहार और पश्चिम बंगाल सहित आसपास के राज्यों के मारवाड़ी व्यापारी और लोग मिल जाएंगे। स्थानीय व्यंजनों के लिए क्षेत्रीय स्पर्श। 
यहाँ के बहुत से शाकाहारी व्यंजनों को मुख्य रूप से देसी घी और सरसों के तेल में तैयार किया जाता है, चाहे वह मसालेदार, मीठा या खट्टा हो। 
अधिकतर  वाराणसी की मिठाई में दूध और घी का आधार होता है जैसे कि मगदाल, संकट मोचन के लड्डू, परवल मिठाई, खीर।  अन्य लोगों के बीच खीर मोहन और लौंगलता। "
दोस्तों  यहाँ  बनारस के कुछ लोकप्रिय स्ट्रीट foस्नैक्स हैं, जिन्हें आपको कभी शहर में आने की कोशिश करनी चाहिए।

Varanasi famous food in Hindi 2020

1. कचोरी  सब्जी-
कचौरी सब्जी बनारस में सुबह का नास्ता के रूप में विख्यात है .पुरे बनारस के लोग इसे बड़े ही चाव से खाते हैं और अपने घर आने वाले मेहमानों को भी इसे खिलाते हैं. बनारस में यह सबसे लोकप्रिय कलेवा (नाश्ता)  के रूप में खाया जाता है। आपको यहाँ की हर गली - मोहल्ले में इसकी  रेहड़ी एवं दुकान आसानी से देखने को मिल जाएगी. 
यहाँ का कचोरी इतना प्रसिद्ध है की यहाँ के एक गली का नाम ही कचोरी गली है. इस गली में ज्यादातर दुकाने कचोरी की ही है. जहा पर हर सुबह बहोत भीड़ लगती है कचोरी खाने के लिए.
कचोरी दो प्रकार की होती है बुराड़ी और चोती कचौरी।  बुराड़ी  कचौरी में दाल की पिठी नामक दाल से बनी मसाला और भरवां कचौरी मसालेदार आलू के मिश्रण से भर जाती है।
इन दोनों कचौड़ियों को गरम मसाला वली आलू की सब्जी और देसी घी जलेबी के साथ परोसा जाता है।  जिसे खाकर बनारस आने वाले लोग इसकी प्रशंसा करते नही थकते. यहाँ के लोगों के दिन की शुरुवात यहाँ की खस्ती कचोरी और जलेबी से होती है. 



2. टमाटर चाट-
दोस्तों बनारस के प्रसिद्ध चाट का अपना अलग ही मज़ा  है जो टमाटर के साथ बनाया जाता है और आप इसे केवल बनारस  में ही  पाएंगे। यह टमाटर चाट एक मसालेदार तैयारी है जिसमें टमाटर को पहले उबाला जाता है इसके बाद इसे उबले हुए आलू के अलावा हिंग, पौंड अदरक, हरी मिर्च और मसालों के साथ मिलाया जाता है।
इसके बाद इसे विभिन्न प्रकार के मसालो एवं  चाट मसाला और छोटे आकार के कुरकुरे नमक पारे के साथ एक 
दोना (पलाश के पत्तों से बना कटोरा) में परोसा जाता है।
अगर आप बनारस में टमाटर चाट खाना चाहते हैं तो में आपको गोदौलिया का मशहूर काशी चाट भंडार या दीना चाट में एक बार जरूर जाईये. यहाँ का चाट पुरे बनारस में फेमस है. 
इस दोनों दुकानों पर आपको हमेशा भीड़ मिलेगी जिससे पता चलता है की लोगों के बीच इस दूकान क टमाटर चाट कितना प्रसिद्ध है.



3 . ठंडाई और लस्सी
पुरे उत्तर प्रदेश में वाराणसी एक ऐसा शहर है जो बहुत सारे दूध और दही का उत्पादन करता है और इसलिए, आप यहाँ के लोगों को  अधिकांश तैयारियों में दूध एवं दही का उपयोग करते पा जाओगे। 
बनारसी ठंडाई मौसमी फल प्यूरी से बनाई जाती है।  दूसरी तरफ यहाँ की लस्सी इतना प्रसिद्ध है की बनारस का नाम जुबान पर आते ही लोगों के मन में सबसे पहले यहाँ की लस्सी का ख्याल आता है.
बनारस में लस्सी सुबह से लेकर रात के तक लगभग हर दूसरी गली की दुकान पर आपको मिल जाएगी। यहाँ लस्सी को  कुल्हड़ में राबड़ी के साथ परोसा जाता है इसके साथ ही इसमें  गुलाब के सार के साथ स्वाद दिया जाता है.
अगर आपको कभी बनारस में लस्सी पीने का ख्याल आये तो लंका स्थित पहलवान लस्सी पर एक बार जरूर पधारें. इसके अलावा बनारस में और काफी अच्छी लस्सी की दुकाने है जहां की लस्सी आपको इसके स्वाद से सराबोर कर देगी. बनारस में जो कोई भी जाता है वो एक बार यहाँ की लस्सी जरूर पीता है. यहाँ की लस्सी अपने आप में यूनिक है जो यहाँ आने वाले पर्यटकों को आसानी से अपने तरफ आकर्षित कर लेती है. 



4 . गोल गप्पे-

वैसे तो भारत के हर सिटी के गोलगप्पे स्वाद से परिपूर्ण होते हैं लेकिन जब बात बनारस की आती है तो यहाँ का आलू एवं मटर के मसाले से भरे गोलगप्पो की बात ही कुछ और है जिसे  यहाँ आने वाले लोग चटखारें ले ले कर खाते हैं.
दूसरी तरफ यहाँ दही चटनी वाले गोल गप्पे को मीठे गोलगप्पे के नाम से भी जाना जाता है जो मसालेदार और मीठे दोनों तरह के स्वाद प्रदान करते हैं।बनारस का यह स्ट्रीट स्नैक सिर्फ चाट की पापड़ी की तरह है, बस बात  सिर्फ इतना है कि इसमें पापड़ी की जगह वेफर थिन और क्रिस्प गोल गप्पों का इस्तेमाल किया जाता है।  इसे और भी मज़ेदार बनाने के लिए इसे धनिया,पुदीना एवं  जलजीरा के पुट के साथ लोगों को सर्व किया  जाता है।
आपको बनारस के लगभग हर चौराहे पर गोलगप्पो की रेहड़ी या दुकानं मिल जाएगी.
        

     
5. दही वड़ा-

वाराणसी दूध एवं दही उत्पादन के लिए पुरे उत्तर प्रदेश में विख्यात है.यहाँ के स्त्र्रेट फ़ूड में अगला नंबर है दही वडे का. धोईया दाल से बने यहाँ के दही वडे यहाँ आने वाले लोगों को अपने स्वाद से आकर्षित करते रहते हैं. 
आपको यहाँ पे हर गोलगप्पे के दूकान पर दही वडा आसानी से मिल जायेगा. 
दही वडे में यहाँ के दुकानदार  लाल मिर्च ,काला नमक, जीरा पाउडर एवं चटनी के साथ परोसा जाता है जो वाकई में बहोत लाजवाब होता है औए मुह में जाने के साथ ही घुल जाता है.
दही वडा आकार में रसमलाई के समान गोल होता है और मीठे दही में डूबा हुआ  और जीरा और काले नमक से बना मसाला है।  इसे  मीठे एवं  खट्टे  के  एक सही मिश्रण के साथ बनाया जाता  है।  धनिया गार्निशिंग इसे और ताज़ा बना देती है।  दोस्तों आप जब भी बनारस आयें तो यहाँ का स्पेशल दही वडा जरूर ट्राई कीजियेगा.



6 . चूड़ा मटर-

वाराणसी में ठण्ड का सीजन शुरू होते ही आपको खाने पीने की स्टाल पर यहाँ का स्पेशल चुडा मटर आसानी से दिख जायेगा. बनारस के लोगों के बीच चुडा मटर बहोत प्रसिद्ध है .

ये भी पढ़ें- Hiking meaning in hindi | हाइकिंग पर पहली बार जा रहे हैं तो रखें इन बातों का ध्यान


आपको हर घर के सुबह नाश्ते में चाय के साथ यह मिल जायेगा. यह स्ट्रीट फूड मूल रूप से पोहा या कंडा पोहा का बनारसी ट्विस्ट है।  यह चटपटे चावल को देसी घी में भिगोकर विभिन्न मसालों के साथ ताजे हरे मटर के साथ तड़का लगाया जाता है जिसमें किशमिश,काजू  और केसर के साथ दूध या क्रीम मिलाया जाता है।  एक गर्म कप मसाला चाय के साथ इसका स्वाद सबसे अच्छा होता है।

                            
                                                   
 7. मलइयो-
मलइयो बनारस का एक यूनिक पेय फ़ूड है जो आपको सिर्फ यही पर देखने को मिलेगा .यह भी सिर्फ ठण्डे के सीजन में यहाँ मिलता है.
माखन मलैयाओ या निमिष एक लोकप्रिय शीतकालीन सड़क मिठाई है जो खाना पकाने के फारसी तरीके से प्रभावित है।  दूध के झाग का स्वाद केसर और इलायची के साथ और पिस्ता और बादाम से गार्निश किया जाता है।  पुरवा या कुल्हड़ में सेवित, यह मलाईदार झाग सचमुच आपके मुंह में पिघल जाएगा.
यह स्ट्रीट  फ़ूड स्वास्थ्य के दृष्टी से भी बहोत अच्छा माना  जाता है. आप जब भी ठण्ड के समय बनारस आये तो एक बार इसका टेस्ट जरूर लीजिये. 



8. लइया चना-
वाराणसी के लोगों के बीच यह स्नैक्स काफी लोकप्रिय है.जब भी लोगों का मन करता है तो यहाँ के लोग इसे बड़े ही चाव के साथ खाते हैं. यह  झालमुरी और भेलपुरी के ही समान होता है, लेकिन इसमें फूला हुआ चावल के बजाय उबला हुआ चना मिला है।  इसमें प्याज, टमाटर, मूंगफली और बहुत सारे मसालो के साथ तीखी चटनी भी  शामिल होती हैं।  यह स्ट्रीट फ़ूड  चाय के साथ सबसे ज्यादा स्वादिस्ट लगता है ।लईया चना न  केवल अपने स्मूदी स्वाद के कारण बल्कि अपने आसान रेसिपी  के कारण भी प्रसिद्ध है। यह स्नैक्स हर वर्ग के लोगों के बीच प्रसिद्द है.

                                            

9. बाटी- चोखा-
वाराणसी में बाटी चोखा काफी लोकप्रिय है आपको हर चौराहे या सार्वजनिक स्थानों पे आसानी से मिल जाएगी. यह बनारस में एक स्वादिष्ट स्ट्रीट स्नैक के लिए भी जाना  जाता है।  बाटी एक गेहूं की गोलाकार गेंद है जिसे सत्तू, लहसुन,अदरख, प्याज, अजवाइन आदि से भरा जाता है और  बैंगन और आलू के चोखे को कई मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है।  लोग चोखा को सरल और कम मसालेदार रखना पसंद करते हैं।
सर्व करते समय बाटी के ऊपर देशी घी डालकर दिया जाता है जो इसके स्वाद को नेक्स्ट लेवल पर ले जाता है.
बाटी चोखा, जो  बिहार में सर्वाधिक लोकप्रिय है, वाराणसी में भी इसकी लोकप्रियता वह से कम नहीं है.
लोग बाटी चोखा को बड़े हइ चाव से खाते हैं.
मैंने खुद भी बहोत बार यहाँ की बाटी चोखा ट्राई किया है जो की स्वाद से भरपूर होता है. आप जब भी बनारस आईये तो यहाँ का बाटी चोखा एक बार जरूर ट्राई कीजिए.

ये भी पढ़ें- अजब गजब है आइस क्रीम का इतिहास I आइस क्रीम का इतिहास | ice cream history | ice cream history in hind

                     
                       


10. इडली-डोसा -
जैसा की आप जानते हैं बनारस भारत की सांस्कृतिक राजधानी है जहां हर दिन हजारो देसी विदेशी पर्यटक आते रहते है. जहा तक इंडिया की बात है तो साउथ इंडिया से रोज हजारो पर्यटक आते रहते हैं जिनको ध्यान में रखते हुए बनारस के खाने पीने के रेहड़ी एवं दुकानदार वह का लोकप्रिय फ़ूड इडली और डोसा आपको बनारस के लगभग हर जगह आसानी से आपको मिल जायेंगे .


चावल को भीगाकर पीसकर भाप से तैयार इडली स्वाथ्य के दृष्टी से भी अच्छी होती है.
वही दूसरी तरफ भीगे चावल के पतले बैटर से तैयार डोसा के अन्दर आलू ,प्याज ,राई ,करी पत्ता , मूंगफली के दाने एवं कई प्रकार के मसालों को भरकर बनाया जाता है जो लोगों के बीच बहोत लोकप्रिय फ़ूड के रूप में खाया जाता है.

ये भी पढ़ें- दुनिया के 6 सबसे महंगे होटल | world 6 expensive hotel | most expensive hotel in the world


अगर आप बनारस आये तो इडली और डोसा जरूर खाईये इसके साथ ही अन्य साउथ इंडियन स्नैक्स जैसे उत्तपम ,आलू वडा. मेदु वडा यहाँ काफी लोकप्रिय है .


               

 तो दोस्तों हमारा आज का यह आर्टिकल आपको कैसा लगा. आप हमें अपने कमेंट के माध्यम से जरूर बताये. अगर आज का आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों एवं सोशल मीडिया पर  शेयर कीजिए जिससे इस पोस्ट के माध्यम से लोग बनारस के लोकप्रिय स्ट्रीट फ़ूड के बारे में जान सकें.

 धन्यवाद. 
























3 comments

Yes I like this article very much. the pictures make it excellent

wow...yummy article.thanks.


EmoticonEmoticon

>