Sunday, 4 August 2019

ईश्वर की कृपा | God bless | what is god bless

नमस्कार मित्रों, इस संसार का प्रत्येक मनुष्य परमात्मा की कृपा दृष्टी प्राप्त करना चाहता है. विशेष रूप से वह जब दुखों के सागर में निमग्न होता है तथा अपने आप को असहाय महसूस करता है. तब उसका झुकाव परम सत्ता परमात्मा की ओर होता है.
ईश्वर की कृपा सब पर अचानक यूँ ही नहीं हो जाती. ईश्वर की कृपा प्राप्त करने के लिए मनुष्य को स्वयं को उचित पात्र बनाना पड़ता है.
ईश्वर तो कृपा का अगाध सागर है , लेकिन उसकी अनुकम्पा से वंचित रहने का कारण हमारी अपनी ही विकृतियाँ होती हैं.
                               
ईश्वर की समीपता का लाभ मनोभूमि को पवित्र बनाये बिना संभव नहीं हो सकता. हमारी दुष्ट एवं तामसिक प्रवृतियाँ प्रभु कृपा प्राप्ति में सबसे बड़ी बाधा है.
जिस प्रकार धुधले दर्पण में मुह दिखाई नहीं देता तथा गंदे नाली की तली में पड़ी हुयी वस्तु ओझल रहती है ठीक उसी प्रकार अन्तः करण की मलिनता के कारण हमारी आत्मा मुर्छित पड़ी रहती है एवं  वासना तथा तृष्णा के आवरण आँखों पर पट्टी बांधे रहते हैं . लोभ तथा अत्यधिक आशक्ति रूपी रस्सी मनुष्य के  मानस पटल को इस प्रकार जकड़े रहती है कि  उसे प्रभु अनुकम्पा प्राप्त हेतु पात्र बनने ही नहीं देती.
आत्मिक परिस्कार के बिना प्रभु अनुग्रह प्राप्त होना असंभव है. जप, तप, साधना अन्तः करण पर पड़े मलिन संस्कारों को दूर करने की विधियाँ हैं.
दुष्ट प्रवृतियों से स्थूल शरीर ,दुर्बुद्धि से सूक्ष्म  शरीर में तामसिक प्रवृतियां भर जाती हैं, और समूचा व्यक्तित्व पतन के गर्त में जा गिरता है. इसी दुर्गति के दलदल में धसकर मनुष्य प्रभु कृपा से वंचित रह जाता है.
कठोर चट्टान पर लगातार वर्षा होते हुए भी हरियाली उत्पन्न नहीं होती . इसमें बादलों से अनुरोध करना व्यर्थ है, क्योकि इसके लिए चट्टान को ही कोमल रेत में बदलना होगा .
ठीक इसी प्रकार मनुष्य को भी अपनी मनोभूमि को पावन बनाना होगा. तामसिक तथा कुसंस्कारो की जो परत हमारे अन्तः करण पर चढ़ गयी है ,वही आत्मा तथा परमात्मा के दर्शन में सबसे बड़ी बाधक है.
मनुष्य विवेकशील प्राणी है . नर से नारायण , पुरुष से पुरुषोत्तम एवं लघु से महान बनने का एक ही उपाय हमारे अन्तः करण की पवित्रता है .
इसलिए शुद्ध अन्तः करण से मनुष्य प्रभु के अनुग्रह का पात्र बनता है . ऐसे सात्विक पुरुष को ही प्रभु की अनुकम्पा प्राप्त होती है.
मित्रों हमारा आज का यह पोस्ट आपको कैसा लगा , हमें कमेंट करके जरुर बताईये . अगर यह पोस्ट आप लोगों को पसंद आयी हो तो इस पोस्ट को अपने मित्रों एवं रिश्तेदारों को शेयर करना न भूलें. धन्यवाद.


EmoticonEmoticon

>