Tuesday, 18 June 2019

जानिए क्या है हाइपरटेंशन | what is hypertension | Hypertension in hindi

नमस्कार दोस्तों, हाइपरटेंशन जिसे उच्च रक्तचाप के रूप में भी जाना जाता है. आज के समय में यह एक चिंता का विषय है. यह धमनी पर पड़ने वाला रक्त का दबाव है.
दोस्तों हाइपरटेंशन को साइलेंट किलर (Silent Killer) के रूप में भी जाना जाता है. क्योंकि इसके कोई लक्षण नहीं होते हैं.
ज्यादातर मामलों में पाया गया है कि उसकी ओर किसी का ध्यान भी नहीं जाता. ऐसे में इस बीमारी से दिल का दौरा और स्ट्रोक भी हो सकता है.
 दोस्तों इस  तरह की परेशानियों को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका हमारे स्वस्थ आहार को बनाए रखना है. यदि हमारा रक्तचाप अधिक है, तो हमें  अपने आहार में हम उन चीजों को शामिल करना सबसे अच्छा रहता है जो हमारे  रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं.
 नीचे कुछ चीजें दी गई है जिन्हें आप अपने दिनचर्या में शामिल करके  हाइपरटेंशन से अपने आप को बचा सकते हैं.
1. लहसुन-
 उच्च रक्तचाप के लिए लहसुन बहुत फायदेमंद साबित होता है. क्योकि  लहसुन में सल्फर युक्त योगिक होते हैं, जैसे Alisin,dylil-dyd sulphaiऔर Dylil-trisulphaid जो रक्तचाप को कम करने के लिए फायदेमंद साबित होते हैं.
                                 
अध्ययनों से यह भी पता चला है कि लहसुन  उच्च रक्तचाप वाले  लोगों के  धमनी में कठोरता, सूजन और अन्य हृदय संबंधी विकारों में सुधार करने की क्षमता रखता है.
2. अनार-
 अनार में उच्च रक्तचाप को कम करने के कई लाभकारी गुण होते हैं. जैसे एंटी ऑक्सीडेंट और सूजन कम करने वाले गुण.
दोस्तों  अनार के रस का नियमित सेवन करने से रक्तचाप और असंतृप्त वसा के स्तर को कम करने में मदद मिलती है.
3. चुकंदर-
 चुकंदर एंटी ऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल से भरपूर है. यह  हमारे  प्रतिरक्षा तंत्र को स्वस्थ बनाता है.
 चुकंदर खाने के बहुत सारे लाभ हैं. यह  रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है.
 फाइटोकेमिकल और एंटी ऑक्सीडेंट की उपस्थिति भी उच्च रक्तचाप और कुछ अन्य बीमारियों जैसे स्थितियों से बचाव में मदद करती है.
 एक गिलास चुकंदर का रस रोज पीने से  रक्तचाप कम करने में मदद मिलती है.
4. पोटेशियम वाले आहार-
 पोटेशियम मांसपेशियों के कार्य के लिए महत्वपूर्ण है. जिसमें रक्त वाहिकाओं को आराम देना शामिल है.
 यह मांसपेशियों को एंठने  से बचाता है और रक्तचाप को कम करता है.
 सूखा आलूबुखारा, खुबानी ,मीठे आलू और लिमा बींस जैसे खाद्य पदार्थ पोटैशियम  के प्राकृतिक स्रोत हैं. लेकिन ऐसे मामलों में जब आप उच्च रक्तचाप के लिए हाइड्रोक्लोरोथियाज़ायिड जैसे  कुछ दवाएं  लेते हैं तो ज्यादा पोटेशियम वाली खाने की चीजें आअखने के लिए पर्याप्त नहीं हो सकती है.ऐसे समय हमें डॉक्टर की सलाह जरुर लेना चाहिए.
5. मैग्नीशियम युक्त आहार-
 हाल ही के  कुछ शोधों के अनुसार मैग्नीशियम उच्च रक्तचाप वाले  लोगों में रक्तचाप को कम पर सकता है. मैग्नीशियम एक मिनरल होता है जो हमारे शरीर में भरपूर मात्रा में पाया जाता है.
यह फाइबर वाले खाने एवं  डाइटरी सप्लीमेंट्स में उपलब्ध है.
हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे कि पालक, फलियाँ, नट, बीज  और साबुत अनाज जैसी  खाने की चीजें मैग्नीशियम के स्रोत हैं.
रक्तचाप ऐसी सौ प्रणालियों में से एक है, जिन्हें मैग्नीशियम  विनियमित करने में मदद करता है.
दोस्तों हमारा आज का यह पोस्ट आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताइए अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों के साथ शेयर करना ना भूले जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग ऊपर बताये गए तरीकों से अपने आप को उच्च रक्तचाप से दूर रख अपने जीवन को आनन्द दायक बना सकें. धन्यवाद. 

3 comments


EmoticonEmoticon