Thursday, 23 May 2019

अजब गजब है आइस क्रीम का इतिहास I आइस क्रीम का इतिहास | ice cream history | ice cream history in hindi

नमस्कार दोस्तों, आप सभी का एक बार फिर से स्वागत है आपके अपने वेबसाइट पर. फ्रेंड्स आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं आइसक्रीम के अजीबो - गरीब इतिहास के बारे में.
दोस्तों आज के समय में आइसक्रीम बच्चे से लेकर बूढ़े सबको पसंद है,  पर क्या आप जानते हैं  की आइसक्रीम खाने की शुरुआत कहां से हुई है?  अगर इसका जवाब नहीं है, तो आप बने रहिए  हमारे इस पोस्ट पर.
दोस्तों किसी समय  सिर्फ गर्मियों में हमें लुभाने वाली  आइसक्रीम अब हर मौसम में हमें अपने तरफ आकर्षित कर रही है.अगर दुसरे शब्दों में कहें तो आज यह लगभग पुरे साल भर  के मैन्यू में होती है टॉप पर.क्या आप जानते हैं आइसक्रीम का रिश्ता हमारे साथ  सदियों पुराना है.
फ्रेंड्स इस पोस्ट में हम आप सब को आइसक्रीम से जुड़े कुछ रोचक चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं.
                                 
आइसक्रीम का इतिहास-
फ्रेंड्स कुछ वर्ष पहले तक हर दिल को लुभाने वाली आइसक्रीम का उपयोग सिर्फ और सिर्फ गर्मियों के मौसम में होता था. लेकिन गर्मियों के अलावा इस खाद्य पदार्थ का उपयोग अन्य मौसमों में करने की कल्पना भी नहीं की जा सकती थी. मगर अब समय बदल चुका है और आज आइसक्रीम बड़े शौक से लगभग पूरे साल खाई जाती है. आज से सदियों पहले भी आइसक्रीम की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि, जब सन  1671 में पहली बार ब्रिटेन के शासक चार्ल्स-2  ने आइसक्रीम खाई तो वह इसके स्वाद के इतने दीवाने हो गए कि उन्होंने अपने आइसक्रीम बनाने वाले शेफ को इस रेसिपी को गुप्त रखने के लिए आजीवन पेंशन देना शुरू कर दिया.
                   
प्रत्येक शाही व्यंजन में होती थी आइसक्रीम की उपस्थिति-
किस्से मशहूर हैं कि सिकंदर तथा नीरू भी आइसक्रीम के बड़े दीवाने थे. वे शहद तथा फूलों के शरबत से बनी आइसक्रीम खाते थे. वहीँ चीन के राजा तेंग  दूध से बनी आइसक्रीम खाना पसंद करते थे.
चीनी युवराज झांगहुई के मकबरे में सजी पेंटिंग इस बात के सुबूत पुख्ता करती है, जिसमें कुछ महिलाएं आइसक्रीम खा रही हैं. कहते हैं मार्कोपोलो नामक व्यापारी 12 वीं शताब्दी में पूर्वी देशों से इसकी रेसिपी को यूरोप में लाया था.
एक अन्य किस्सा यह भी है कि जब फ्रांस के राजा हेनरी-2  का इटली की राजकुमारी से विवाह हुआ तो राजकुमारी अपने साथ जायकेदार आइसक्रीम बनाने वाले एक शेफ को अपने साथ लायी  थी.
एक अन्य  जानकारी के अनुसार इंग्लैंड की एग्नेस मार्शल ने सन 1885 से 1894 तक आइसक्रीम रेसिपी पर 4 पुस्तकें लिख डाली थीं.जिसका परिणाम यह हुआ की इन पुस्तकों के द्वारा आइसक्रीम  की प्रसिद्धि चारों ओर फैल गई थी.
अजब गजब किस्से-
दोस्तों आज  बाजार में आइसक्रीम के कई फ्लेवर मौजूद हैं, लेकिन इसके आविष्कार की कहानियां भी कम रोचक नहीं है.
फ्रेंड्स आइसक्रीम का पहला लिखित रिकॉर्ड सीरिया का है, जहां 780 ईसा पूर्व पत्थर पर अंकित प्राचीन लिपि के अनुसार मारी के राजा ने बर्फ का एक घर बनवाया था और मजे की बात यह थी कि पहाड़ों से लाई गई इस बर्फ  के घर में बर्फ जमा दी  जाती थी.
पर्शियन लोग भी सर्दियों के मौसम में  बर्फ को बर्फ के घरों में ( जिसे स्थानीय भाषा में यखचल कहते हैं) में  साल भर संभाल कर रखते थे. पर्शियन भाषा में यख का मतलब होता है बर्फ तथा चल का मतलब गड्ढा होता है. कहा जाता है कि यह लोग फलों के रस को इन बर्फ  के घरों में जमा कर रखते थे.
भारत में अव्वल गुजरात-
जहां तक भारत की बात है तो आइसक्रीम की खपत के मामले में सबसे आगे हैं गुजराती, इसका एक बड़ा कारण यह है कि,गुजरात में आइसक्रीम वहाँ के लोगों के लिए  एक बड़ा जुनून बन गया है. क्योकि गुजराती लोग पारंपरिक मिठाइयों के उलट  भोजन के बाद मिठाई के रूप में आइसक्रीम खाना ही अधिक पसंद करते हैं, जिससे इस राज्य में आइसक्रीम की बहुत ज्यादा खपत है.
विभिन्न प्रकार के लजीज  फ्लेवर भी डिमांड में-
बात अगर आइसक्रीम के फ्लेवर की करें तो अहमदाबाद में बिकने वाली पान के पत्तों में लिपटी मसालेदार आइसक्रीम चांदी के वर्क, आम के गूदे, ताजे अदरक के रस, ड्राइफ्रूट्स , कस्तूरी, पनीर, मूंगफली, शिमला मिर्च, लाल मिर्च, ग्रीन टी और गुलाब की पंखुड़ियों के स्वाद वाली वैराइटीज निश्चित ही आपको चौंका देगी.
कुछ वर्ष  पहले जब बिल क्लिंटन भारत में आए थे तब उन्हें आम और बर्फ वाली आइसक्रीम बहुत पसंद आई थी. दोस्तों मुंबई, हैदराबाद तथा अहमदाबाद में है गोल्ड प्लेटेड आइसक्रीम के स्टोर.
फ्रेंड्स क्या आप जानते हैं कि अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति थॉमस जेफरसन आइसक्रीम के बहुत बड़े प्रशंसक थे. इसका उदाहरण उन्होंने उनकी लिखी वनीला आइसक्रीम की रेसिपी आज भी मौजूद है लाइब्रेरी आफ कांग्रेस में.
आइसक्रीम फ्लेवर की रेस में सबसे आगे है वनीला उसके बाद चॉकलेट एवं स्ट्रॉबेरी वगैरह फ्लेवर पसंद किए जाते हैं.
तुर्की में एक खास किस्म की आइसक्रीम बहुत लोकप्रिय है जो दूसरी आइसक्रीम की तरह जल्दी पिघलती नहीं बल्कि बंधी रहती है. इसे यह खूबी मिलती है इस में मिलाए जाने वाले ऑर्किड  से.
विश्व की सबसे महंगी आइसक्रीम का नाम है एबसरडीटी संडे जिसकी कीमत $60,000 अमेरिकी डॉलर है. मजे की बात यह  है की इस आइसक्रीम के साथ एक हॉलीडे पैकेज भी मिलता है.
एक और आइसक्रीम की वैरायटी है जिसका नाम है सेरेंडीपीटी जिसकी कीमत $25,000 अमेरिकी डॉलर है. फ्रेंड्स इस आइसक्रीम फ्रोजन हॉट चॉकलेट को सोने की कटोरी में परोसा जाता है, साथ ही बेस पर सफेद डायमंड लगा होता है.
आइसक्रीम खाने के फायदे-
1. कैल्शियम से भरपूर होने के कारण आइसक्रीम हड्डियों को पोषण तो देता ही है साथ ही मुंह के छालों से भी यह आराम दिलाता है. दांत निकलवाने के बाद डेंटिस्ट आइसक्रीम खाने की सलाह भी देते हैं.
2. शारीरिक थकान हो या बोझिल माहौल इससे उबरने में आइसक्रीम बहुत ही सहायक होती है.
3. दूध, शक्कर, मेवों  तथा फलों से बनी आइसक्रीम शरीर में ऊर्जा उत्पन्न करती है जिससे शरीर को विटामिन ए, बी, सी, डी तथा मिनरल्स  की संपूर्ण खुराक मिलती रहती है.
4. आइसक्रीम बिगड़े मूड को  शांत करने का एक  बेहतरीन उपाय भी है.
तो दोस्तों अब तो आपने आइसक्रीम से संबंधित बहुत सी बातों के बारे में जान लिया होगा और यह पोस्ट आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं.
दोस्तों अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को आप अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों को शेयर करना ना भूलें , जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस पोस्ट को पढ़ सकें. धन्यवाद.



EmoticonEmoticon