Tuesday, 26 March 2019

मनोहर पर्रिकर जीवन परिचय | Manohar Parrikar biography in hindi

नमस्कार दोस्तों, मैं अमित कुमार आप सबका अपने वेबसाइट www.kyakaisehai.com पर एक बार फिर से स्वागत करते हैं. दोस्तों आज की इस पोस्ट में मैं आप सबको देश के पूर्व रक्षा मंत्री एवं गोवा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पर्रिकर के जीवन के बारे में बताने वाला हूं.
दोस्तों मनोहर पर्रिकर सादा जीवन उच्च विचार की प्रकृति वाले व्यक्ति थे एवं हमेशा एक साधारण एवं आम इंसान की तरह अपने जीवन के अंतिम सांस तक भारत माता की सेवा करते रहे.
दोस्तों  भारत की राजनीति में कुछ गिने-चुने ऐसे राजनेता मौजूद है जिनकी छवि एकदम साफ सुथरी है, इनमें से मनोहर पर्रिकर जी एक थे.
                                         
मनोहर पर्रिकर  का पूरा नाम मनोहर गोपाल कृष्ण प्रभु परिकर है, इनका जन्म 13 दिसंबर सन 1955 को गोवा राज्य के मापुसा नामक स्थान पर हुआ था.
इनके पिता का नाम गोपाल कृष्ण पर्रिकर एवं माता का नाम राधाबाई पर्रिकर था.
उनकी पत्नी का नाम मेधा पर्रिकर एवं इनके दो पुत्र हैं जिनका नाम अभिजीत पर्रिकर एवं उत्पल पर्रिकर है.
इन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा मार गांव में पूरी की, इसके बाद सन 1978 में IIT मुंबई से से स्नातक किया. 
वर्ष 2001 में इन्हें आईआईटी मुंबई द्वारा विशिष्ट भूतपूर्व छात्र की उपाधि प्रदान की गई.
मनोहर पर्रिकर का राजनीतिक कैरियर-
दोस्तों आईआईटी की पढ़ाई से लेकर गोवा के मुख्यमंत्री और हमारे देश का रक्षा मंत्री तक का मनोहर पर्रीकर जी का सफर वर्ष 1994 में शुरू हुआ, जब वह गोवा विधानसभा के विधायक चुने गए.
 इसके बाद 24 अक्टूबर सन 2000 में वे गोवा के मुख्यमंत्री नियुक्त किए गए और 27 फरवरी सन 2002 तक अपनी इस कार्यभार को संभाले.
 इसके बाद जून 2002 में दोबारा गोवा राज्य के लिए मुख्यमंत्री चुने गए. इसके बाद 29 जनवरी सन 2005 को उनकी सरकार अल्पमत में चली गई थी, लेकिन मनोहर पार्रिकर जी ने बड़ी समझदारी से भाजपा के साथ 24 विधानसभा क्षेत्रों को जीत लिया एवं 2012 की विधानसभा में फिर से वापसी की. इस प्रकार वे 8 नवंबर 2014 तक गोवा के मुख्यमंत्री रहे.
 इसके बाद सन 2014 में केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आने के बाद इनको हमारे देश का रक्षा मंत्री बना दिया गया.
दोस्तों सन 2016 में भारत ने पाकिस्तान मे घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया था उस वक्त देश के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ही थे.
 इसके बाद फिर से गोवा विधानसभा में चुनाव हुआ जिसमें भारतीय जनता पार्टी की विजय हुई और इन्हें फिर से गोवा का मुख्यमंत्री (14 मार्च 2017) बनाया गया. इस प्रकार गोवा के मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए उन्होंने 17 मार्च सन 2019 को अपने जीवन की अंतिम सांस ली.
सरल स्वभाव-
दोस्तों उनके जीवन की एक घटना है जो मैं आप सबसे बताने जा रहा हूं,
दोस्तों ये बात उस वक़्त की है जब  गोवा का सर्वोच्च पद पर होने के बावजूद मनोहर पर्रिकर क्षेत्र का दौरा अपने विधायकों के साथ अक्सर स्कूटर पर ही किया करते थे एवं जब भी वे किसी  एक कार्यक्रम में शरीक होते थे तो अक्सर वे साधारण वेशभूषा में ही पहुंच जाते थे.
पार्रिकर के एक नजदीकी बताते हैं कि एक बार इनको  एक कार्यक्रम में शरीक होने पांच सितारा होटल में  जाना था, लेकिन ठीक उसी समय उनकी गाड़ी खराब हो गई जिसके चलते उन्होंने तत्काल एक टैक्सी बुलवाई और साधारण कपड़े और चप्पल पहने हुए ही होटल पहुंचे. इसके बाद दोस्तों जैसे ही टैक्सी से बाहर आये तो होटल के दरबारी ने उन्हें रोका और कहा कि तुम अंदर नहीं जा सकते तो उस पर मनोहर पर्रिकर ने दरबारी को बताया कि वह गोवा के मुख्यमंत्री हैं, दोस्तों यह बात सुनकर दरबारी हंसने लगा और बोला कि आप मुख्यमंत्री है तो मैं देश का राष्ट्रपति हूं. इतने में ही कार्यक्रम के आयोजक मौके पर पहुंचे और पूरे मामले को सुलझाया. ऐसे सादगी प्रिय व्यक्ति थे मनोहर पर्रिकर जी.
दोस्तों मैं आशा करता हूं की आपको मेरा यह पोस्ट जरूर पसंद आया होगा, मित्रों अगर कोई सुझाव हो तो हमें  अपने कमेंट  के माध्यम से दीजिये, हम आपके सुझाव का पूरे दिल से स्वागत करते हैं एवं  आपके कमेंट का जवाब जरूर देंगे. दोस्तों इसी प्रकार के अन्य पोस्ट पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट www.kyakaisehai.com को फॉलो करना ना भूले धन्यवाद.